Ad Code

Responsive Advertisement

Differences Between AC Motor and DC Motor in Hindi

 difference between AC and DC motor  न केवल परीक्षा की दृष्टि से बल्कि विभिन्न परियोजनाओं और व्यावहारिक प्रदर्शनों के लिए भी अत्यंत महत्वपूर्ण है। एसी और डीसी मोटर अंतर जानने से, किसी विशेष प्रदर्शन के लिए सही मोटर चुनना आसान हो जाता है। इंजीनियरिंग उम्मीदवारों के लिए भी, यह विषय अत्यधिक महत्व रखता है। इस लेख में, आसान समझने के लिए डीसी और एसी मोटर्स के बीच सारणीबद्ध रूप में विस्तृत अंतर दिया गया है।

डीसी और एसी मोटर के बीच अंतर जानने से पहले, इलेक्ट्रिक मोटर के बारे में गहराई से जानकारी जानना जरूरी है। एक इलेक्ट्रिक मोटर के विवरण को जानकर, कोई भी आसानी से मतभेदों को समझ सकता है और बिंदुओं को आराम से जोड़ सकता है। मोटरों के बारे में अधिक जानने के लिए, इलेक्ट्रिक मोटर पर जाएँ, और संबंधित विवरण देखें।

 

 difference between AC and DC motor 

 


Sl. No.Differentiating PropertyAC MotorDC Motor
1Definitionएसी मोटर्स को एक इलेक्ट्रिक मोटर के रूप में परिभाषित किया जा सकता है जो एक प्रत्यावर्ती धारा (एसी) द्वारा संचालित होती है।डीसी मोटर्स भी एक रोटेटरी इलेक्ट्रिक मोटर है जो डायरेक्ट करंट (डीसी एनर्जी) को मैकेनिकल एनर्जी में कन्वर्ट करती है।
2Typesएसी मोटर मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं जो सिंक्रोनस एसी मोटर्स और इंडक्शन मोटर्स हैं।डीसी मोटर्स भी मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं जो हैं ब्रश के साथ डीसी मोटर्स और बिना ब्रश के डीसी मोटर्स।
3Current Inputएसी मोटर तभी चलती है जब एक प्रत्यावर्ती धारा इनपुट के रूप में दी जाती है।डीसी मोटर तभी चलेंगी जब डीसी सप्लाई दी जाएगी। डीसी श्रृंखला मोटर के मामले में, मोटर एसी आपूर्ति के साथ चल सकती है। लेकिन, शंट मोटर्स के लिए, मोटर कभी भी एसी की आपूर्ति पर नहीं चलती है।
4Commutators and Brushesएसी मोटरों में कम्यूटेटर और ब्रश अनुपस्थित हैं।डीसी मोटर्स में कम्यूटेटर और कार्बन ब्रश मौजूद होते हैं।
5Input Supply Phasesएसी मोटर्स सिंगल-फेज और थ्री-फेज दोनों आपूर्ति पर चल सकती हैं।डीसी मोटर्स केवल सिंगल फेज सप्लाई पर चल सकती हैं।
6Starting of Motorतीन फेज वाली एसी मोटर सेल्फ स्टार्टिंग होती है लेकिन सिंगल फेज एसी मोटर के लिए स्टार्टिंग मैकेनिज्म की जरूरत होती है।डीसी मोटर्स हमेशा सेल्फ स्टार्टिंग प्रकृति की होती हैं।
7Armature Characteristicsएसी मोटर्स में, चुंबकीय क्षेत्र घूमते समय आर्मेचर स्थिर रहता है।डीसी मोटर्स में, आर्मेचर घूमता है जबकि चुंबकीय क्षेत्र स्थिर रहता है।
8Input Terminalsएसी मोटर्स में तीन इनपुट टर्मिनल (आरवाईबी) मौजूद होते हैं।डीसी मोटर्स में दो इनपुट टर्मिनल (पॉजिटिव और नेगेटिव) मौजूद होते हैं।
9Speed Controlएक एसी मोटर की गति को आवृत्ति को बदलकर बदला जा सकता है।डीसी मोटर्स के मामले में, आर्मेचर वाइंडिंग के करंट को बदलकर गति को नियंत्रित किया जा सकता है।
10Load Changeएसी मोटर लोड में बदलाव के लिए धीमी प्रतिक्रिया दिखाते हैं।डीसी मोटर्स लोड में बदलाव के लिए त्वरित प्रतिक्रिया दिखाते हैं।
11Life Expectancyचूंकि एसी मोटरों में ब्रश और कम्यूटेटर नहीं होते हैं, वे बहुत कठोर होते हैं और उच्च जीवन प्रत्याशा रखते हैं।डीसी मोटर्स में ब्रश और कम्यूटेटर गति को सीमित करते हैं और मोटर की जीवन प्रत्याशा को कम करते हैं।
12Efficiencyइंडक्शन करंट लॉस और मोटर स्लिप के कारण एसी मोटर की दक्षता कम होती है।डीसी मोटर की दक्षता अधिक होती है क्योंकि इसमें कोई स्लिप और इंडक्शन करंट लॉस नहीं होता है।
13Maintenanceएसी मोटरों को कम रखरखाव की आवश्यकता होती है क्योंकि ब्रश और कम्यूटेटर अनुपस्थित होते हैं।ब्रश और कम्यूटेटर की उपस्थिति के कारण डीसी मोटर्स को अत्यधिक रखरखाव की आवश्यकता होती है।
14Applicationsजहां हाई स्पीड और वेरिएबल टॉर्क की जरूरत होती है वहां एसी मोटर की जरूरत होती है।जहां परिवर्तनशील गति और उच्च टोक़ की आवश्यकता होती है, वहां डीसी मोटर्स की आवश्यकता होती है।
15Practical Usesवे मुख्य रूप से बड़े उद्योगों में उपयोग किए जाते हैं।इनका उपयोग ज्यादातर छोटे घरेलू उपकरणों में किया जाता है।


Key Differences Between AC  Motor and DC Motor

 

  • एसी मोटर प्रत्यावर्ती धारा की अवधारणा पर काम करती है, जबकि डीसी मोटर प्रत्यक्ष धारा पर काम करती है।
 
  • एसी मोटर का मुख्य स्रोत थ्री-फेज या सिंगल-फेज सप्लाई मेन से आने वाला करंट है। डीसी मोटर के स्रोत बैटरी और सेल हैं।
 
  • एक एसी मोटर में, कम्यूटेशन प्रक्रिया अनुपस्थित होती है, इसलिए कार्बन ब्रश का कोई उपयोग नहीं होता है, जबकि डीसी मोटर में कम्यूटेशन प्रक्रिया होती है और इस प्रकार कार्बन ब्रश का उपयोग किया जाता है।
 
  • एसी मोटर में तीन-चरण और एकल-चरण आपूर्ति दोनों का उपयोग किया जाता है, लेकिन डीसी मोटर में केवल एकल-चरण आपूर्ति का उपयोग किया जाता है।
 
  • एक एसी मोटर में, तीन इनपुट टर्मिनल होते हैं जिन्हें आरवाईबी (लाल, पीला और नीला) के रूप में जाना जाता है। डीसी मोटर में केवल दो टर्मिनल होते हैं, इन्हें पॉजिटिव और नेगेटिव के नाम से जाना जाता है।
 
  • एसी मोटर स्वयं शुरू नहीं होते हैं, और इस प्रकार, इसे शुरू में मोटर शुरू करने के लिए कुछ बाहरी उपकरणों की आवश्यकता होती है। डीसी मोटर्स सेल्फ स्टार्टिंग मोटर्स हैं।
 
  • आर्मेचर स्थिर है, और चुंबकीय क्षेत्र एसी मोटर में घूमता है लेकिन डीसी मोटर में आर्मेचर घूमता है, और चुंबकीय क्षेत्र स्थिर होता है।
 
  • एसी मोटर बड़े और औद्योगिक अनुप्रयोगों के लिए उपयुक्त है जबकि डीसी मोटर्स का उपयोग छोटे और घरेलू अनुप्रयोगों के लिए किया जाता है।
 
  • एसी मोटर की रखरखाव लागत डीसी मोटर की तुलना में अधिक है।

 

Post a Comment

0 Comments

Close Menu